Akhiyan hari darshan ki pyaasi lyrics in hindi

( Akhiyan hari darshan ki pyaasi )

अंखियाँ हरि दरसन की प्यासी,

देख्यौ चाहति कमल नैन कौ,
निसि-दिन रहति उदासी

आए ऊधै फिरि गए आँगन,
डारि गए गर फांसी

केसरि तिलक मोतिन की माला,
वृन्दावन के बासी

काहू के मन को कोउ न जानत,
लोगन के मन हांसी

सूरदास प्रभु तुम्हरे दरस कौ,
करवत लैहौं कासी

( Akhiyan hari darshan ki pyaasi )

कृष्ण भगवान के अन्य भजन सुने

Check Also

खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाए

SINGER - RAGINI VERMA खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाएदेदो इजात बाबा तेरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *