As kuchu smju part raghuraaya lyrics in hindi

अस कछु समुझि परत रघुराया
बिनु तव कृपा दयालु  दास-हित  मोह न छूटै माया ॥

जैसे कोइ इक दीन दुखित अति असन-हीन दुख पावै  
चित्र कलपतरु कामधेनु गृह लिखे न बिपति नसावै

जब लगि नहिं निज हृदि प्रकास, अरु बिषय-आस मनमाहीं
तुलसिदास तब लगि जग-जोनि भ्रमत सपनेहुँ सुख नाहीं

राम भगवान के अन्य भजन सुने

Check Also

खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाए

SINGER - RAGINI VERMA खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाएदेदो इजात बाबा तेरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *