Guru jambheshvar ki aarti gau lyrics in hindi

( Guru jambheshvar ki aarti gau )

गुरू जम्भेश्वर की आरती गाऊ,
हाथ जोङकर शीश निवाऊ,

पींपासर मे जनम लिया था,
समराथल पर दरश दिया था,
अद्भुत लीला थारी,बली बली जाऊ

पींपासर नगरी मे आणद छायो,
नंद जी को लाल,लोहट घर आयो,
थारा युग-युग दरशण पाऊ,

सब सखियां मिल मंगल गावे,
ऐसो अवसर फेर ना आवे,
थारा ज्योति मे दरशण पांऊ,

सदानन्द थारी आरती उतारे,
विष्णु नाम का मंन्त्र उचारे,
थाने सुबह ओर शाम मनाऊ||

( Guru jambheshvar ki aarti gau )


अन्य आरती सुने

Check Also

खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाए

SINGER - RAGINI VERMA खाटू की गलियां फिर से गुलजार हो जाएदेदो इजात बाबा तेरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *