Narsi ki bhat lyrics in hindi

( Narsi ki bhat lyrics)

भक्तों पर कृपा करें , साँवल शाह सरकार
भात भरण को आ गए , जब नरसी करी पुकार|

नरसी बोले अरज सुनो , है गोवर्धन गिरधारी
नानी बाई बाट निहारे , राखो लाज हमारी|

सिरसा गढ़ से है , मनमोहन भात की चिट्ठी आई
पढ़ पढ़ कर मेरा मन घबरावे , प्यारे कृष्ण कन्हाई
सब भक्तों की लाज बचाई ..
आज है मेरी बारी|

टूटी फूटी गाड़ी मेरी , कैसे पहुंचा जाए
साथ नहीं कोई गढ़ वाला , गाड़ी कौन चलाएं
नाव डूबी कौन बचाए ..
तुम बिन बृज बिहारी|

बिन भाई के बहन अकेली मेरी लाडली नानी
करके याद रोवती होगी , भर आंख्या में पानी
आज बदल दे करम कहानी ..
आजा कृष्ण मुरारी|

एक भरोसा तेरा है , घनश्याम मुरलिया वाले
भूलन त्यागी कहे श्याम , बहुत के संकट ताले
आज मुझे भी आन बचाले ..
हरीश पड़ा शरण में थारी||

( Narsi ki bhat lyrics )

कृष्ण भगवान के अन्य भजन सुने

Check Also

मैं तो अपने पिया की दीवानी हो गई

मैं तो अपने पिया की दीवानी हो गई,अपने बांके की बांकी मस्तानी हो गईमैं तो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *